Geeta-Bodh Aur Mangal-Prabhat

30.00

Description

Geeta-Bodh Aur Mangal-Prabhat

गीता-बोध और मंगल-प्रभात – गांधी

‘गीता-बोध और मंगल प्रभात’ में गीता के अठारहों अध्यायों पर गांधीजी के अर्थगर्भित विचार क्रमबद्ध हैं, तथा आश्रम में प्रातःकाल की प्रार्थना के बाद ‘सत्य’, ‘अहिंसा’, ‘ब्रह्मचर्य’, ‘अस्वाद’ आदि विभिन्न शाश्वत विषयों पर गांधीजी द्वारा व्यक्त मंगल-वाणी संकलित है।

Geeta-Bodh Aur Mangal-Prabhat – Mahatma Gandhi

Pages: 100
Size: Crown
ISBN: 9789383982431

Additional information

Weight 30 g

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Geeta-Bodh Aur Mangal-Prabhat”

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

X
×

Hello!

Click one of our representatives below to chat on WhatsApp or send us an email to info@sssprakashan.com

× How can I help you?