Shop

Home Gandhi Literature Books on Gandhi Gandhi-Vichar Aur Paryavaran

Gandhi-Vichar Aur Paryavaran

20.00

Category:

Description

Gandhi-Vichar Aur Paryavaran – Nyaymurti Chandrashekhar Dharmadhikari

प्रस्तुत पुस्तक में न्यायमूर्ति चन्द्रशेखर धर्माधिकारी ने गांधी-विचार के महत्त्वपूर्ण पहलू  खादी, निसर्गोपचार, स्वदेशी, अहिंसा, असंग्रह आदि को प्रकृति व पर्यावरण के लिए आवश्यक तत्त्व माना है। यानी गांधी-विचार की उपादेयता को स्वीकारा है। यह पुस्तक जहाँ एक ओर गांधी-विचार एवं जीवन-शैली की उपादेयता को सिद्ध करती है वहीं दूसरी ओर पर्यावरण प्रेमियों, सुधी पाठकों को सहज राह भी दिखाती है।

पृष्ठ 48
आकार 
: डिमाई ISBN: 9788190623780

Additional information

Weight 100 g

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Gandhi-Vichar Aur Paryavaran”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X
×

Hello!

Click one of our representatives below to chat on WhatsApp or send us an email to info@sssprakashan.com

× How can I help you?